Photo Gallery

Photo Gallery: साइंस कालेज दुर्ग द्वारा रिसर्च जर्नल श्रिसर्च एक्सप्रेशनश् का द्वितीय अंक विमोचित

 

साइंस कालेज दुर्ग द्वारा रिसर्च जर्नल श्रिसर्च एक्सप्रेशनश् का द्वितीय अंक विमोचित


Venue : Govt. V.Y.T. PG Autonomous College, Durg
Date : 06/12/2018
 

Story Details

साइंस कालेज दुर्ग द्वारा रिसर्च जर्नल श्रिसर्च एक्सप्रेशनश् का द्वितीय अंक विमोचित

शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग द्वारा प्रकाशित शोध पत्रिका श्रिसर्च एक्सप्रेशनश् के द्वितीय अंक का विमोचन आज महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. एम.ए. सिद्दीकी ने किया। डाॅ. सिद्दीकी ने इस अवसर पर पत्रिका के संपादक मण्डल को शुभकामनायें देते हुए कहा कि भविष्य में महाविद्यालय की शोध पत्रिका को और अधिक उच्च स्तरीय बनाने के साथ-साथ यूजीसी द्वारा प्रमाणित रिसर्च जर्नल की सूची मेें शामिल कराये जाने का सार्थक प्रयास करें। 
रिसर्च जर्नल की मुख्य संपादक डाॅ. कमर तलत द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार महाविद्यालय द्वारा वर्ष में दो बार बहु संकायी रिसर्च जर्नल का प्रकाषन विगत दो वर्षों से किया जा रहा है। आईएसएसएन नंबर युक्त इस रिसर्च जर्नल में प्रकाशित होने वाले शोध पत्रों को विषय-विशेषज्ञों से जांच कराने के पश्चात् ही प्रकाषित किया जाता है। इस रिसर्च जर्नल में प्रकाषन हेतु शोधार्थियों को मौलिक शोध पत्र अथवा आलेख ए4 साईज पेपर पर टाईप कराकर हिन्दी में कृतिदेव तथा अंग्रेजी में टाइम्स न्यू रोमन फांट में भेजना आवष्यक है। पत्रिका के द्वितीय अंक में विषय-विशेषज्ञों द्वारा अनुमोदन के पश्चात् अंग्रेजी विषय के 3, हिन्दी का 1, लाॅ का 1, समाजशास्त्र के 3, इतिहास के 2, वनस्पति शास्त्र के 2, भौतिक का 1 तथा भूगर्भशास्त्र का 1 शोध पत्र प्रकाशित किया गया है। इन शोध पत्रों में जम्मू काश्मीर, दिल्ली, अलीगढ़, चंद्रपुर, रायपुर तथा दुर्ग, बिलासपुर के शोधकर्ताआ के शोधपत्र शामिल है। शोध पत्रिका के विमोचन के अवसर पर पत्रिका के संपादक मण्डल के साथ-साथ महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. राजेन्द्र चैबे, डाॅ. अनुपमा अस्थाना, डाॅ. प्राची सिंह उपस्थित थे।  
डाॅ. कमर तलत के अनुसार इस रिसर्च जर्नल को यूजीसी की मान्यता प्राप्त शोधपत्र की सूची में शामिल कराये जाने के प्रयास महाविद्यालय प्रषासन द्वारा किए जा रहे है। महाविद्यालय के प्राध्यापक, डाॅ. ओ.पी. गुप्ता, डाॅ. जगजीत कौर सलूजा, डाॅ. अजय सिंह, डाॅ. सुचित्रा शर्मा, डाॅ. प्रज्ञा कुलकर्णी, डाॅ. विनोद साहू, डाॅ. मर्सी जाॅर्ज , डाॅ. प्रषांत श्रीवास्तव, डाॅ. कृष्णा चटर्जी तथा ग्रंथपाल डाॅ. विनोद अहिरवार इस रिसर्च जर्नल के संपादक मंडल में शामिल है। महाविद्यालय के तत्कालीन प्राचार्य डाॅ. एस.के. राजपूत रिसर्च जर्नल के संरक्षक है। रिसर्च जर्नल में प्रकाषित प्रमुख शोधपत्रों में छत्तीसगढ़ के विशेष संदर्भ में असहयोग आंदोलन में महिलाओं का योगदान, डौण्डी लोहारा आंदोलन पर आलेख तथा ऊर्जा के स्त्रोत जेट्रोफा, रायगढ़ जिले के भूपदेवपुर आरक्षित वन में पाये जाने वाले वृक्षों की विविधता फेरोइलेक्ट्रीक लिक्वीड क्रिस्टल, विदर्भ की खनिज संपदा के उपयोग की भविष्य की संभावनायें, अनुवाद का इतिहास, विक्रम सेठ की कविताओं में अकेलेपन का चित्रण, दलितों की समाज में स्थिति, मानववाद के संदर्भ में मैथलीशरण गुप्त का काव्य,सूचना का अधिकार अधिनियम 2005, भारतीय समाज पर औद्योगिकीकरण एवं वैष्विीकरण का प्रभाव, ग्रामीण परिवेष में ई-शिक्षा की स्थिति का मूल्यांकन आदि शोधपत्र शामिल है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पत्रिका का अगला अंक मार्च, अप्रेल 2019 में प्रकाशित होगा। इस हेतु शोधकर्ता अपने मौलिक शोध पत्र साइंस कालेज, दुर्ग में रिसर्च जर्नल संपादक मण्डल के पास जमा करा सकते है। 

साइंस कालेज दुर्ग द्वारा रिसर्च जर्नल श्रिसर्च एक्सप्रेशनश् का द्वितीय अंक विमोचित Photos