Photo Gallery

Photo Gallery: साइंस कालेज, दुर्ग में इंस्पायर कैम्प का तीसरा दिन इंस्पायर कैम्प में सांस्कृतिक संध्या में दिखा राष्ट्रीयता एवं छत्तीसगढ़ की संस्कृति का संगम

 

साइंस कालेज, दुर्ग में इंस्पायर कैम्प का तीसरा दिन इंस्पायर कैम्प में सांस्कृतिक संध्या में दिखा राष्ट्रीयता एवं छत्तीसगढ़ की संस्कृति का संगम


Venue : Govt. V.Y.T. PG Autonomous College, Durg
Date : 30/08/2018
 

Story Details

शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित 5 दिवसीय इंस्पायर साइंस कैम्प के तीसरे दिन आज सांस्कृतिक संध्या में राष्ट्रीयता एवं छत्तीसगढ़ की संस्कृति का अनोखा संगम देखने को मिला। इंस्पायर कैम्प के मुख्य समन्वयक एवं महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. एस.के. राजपूत ने बताया कि छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से पधारे 200 हायर सेकेण्डरी स्कूल के विद्यार्थी इस संप्रदायिक सौहार्द्र पूर्ण संास्कृतिक संध्या के साक्षी बने। जहां एक ओर शालेय प्रतिभागी विद्यार्थियों ने राष्ट्र प्रेम की भावना से ओत-प्रोत नृत्य एवं एकल तथा समूह गान प्रस्तुत किए। वहीं दूसरी ओर प्रतिभागियों के सम्मान में साइंस कालेज, दुर्ग के विद्यार्थियों तथा एन.एस.एस. के स्वयं सेवकों ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति पर आधारित लोक नृत्य एवं गीत प्रस्तुत किए। विद्यार्थियों की दक्षता से प्रेरित होकर साईंस कालेज, दुर्ग के प्राध्यापकों डाॅ. मीना मान एवं डाॅ. सतीश सेन ने भी गीतों की प्रस्तुति दी। प्रसिध्द कथक कलाकार डाॅ. सरिता श्रीवास्तव ने कवित के माध्यम से गंगा अवतरण का वृतांत प्रस्तुत किया।  
इंस्पायर प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य शालेय विद्यार्थियों में बेसिक साइंस के प्रति रूचि उत्पन्न कर उन्हें शोध कार्य की तरफ प्रेरित करना है। इसी उददेश्य को ध्यान में रखकर आज इंस्पायर कैम्प में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अली मोहम्मद तथा इंस्टीट्यूट आफ साइंस मुबंई के प्रोफेसर विजय मेंदुलकर का आमंत्रित व्याख्यान हुआ। प्रोेफेसर अली मोहम्मद ने ग्रीन केमेस्ट्री के सिन्थेटिक तथा एनालिटिकल एस्पेक्ट विषय पर रोचक जानकारी विद्यार्थियों को दी वहीं प्रोफेसर मेंदुलकर ने अलगल बायोटेक्नालाॅजी विषय के महत्व एवं संभावनाओं पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि शोध के क्षेत्र में तथा हार्वेस्टिंग एवं जीवाणुओं के जीन्स में बदलाव के दौरान अलगन बायोटेक्नालाॅजी का बहुत अनुप्रयोग है। इस विषय में उन्होंने ईधन ग्रेड अल्कोहल तथा प्रोटीन का विस्तृत विश्लेषण किया। उन्होंने विद्यार्थियों से अलगल बायोटेक्नालाॅजी विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने का आव्हान किया। 
इंस्पायर साईंस कैम्प के सहायक समन्वयक डाॅ. अनिल कुमार, डाॅ. अजय सिंह एवं डाॅ. प्रशांत श्रीवास्तव ने संयुक्त रूप से बताया कि इंस्पायर कैम्प के सभी विद्यार्थियों हेतु बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित टेस्ट परीक्षा का आयोजन भी किया गया। इस परीक्षा में सर्वाधिक अंक अर्जित करने वाले तीन प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जायेगा। 
दोपहर के सत्र में विद्यार्थियों को विज्ञान विषयों के विभिन्न सिध्दांतों एवं प्रयोगोें को भौतिक रूप से दिखाने तथा विज्ञान की नवीनतम जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ कौसिंल आॅफ साइंस एण्ड टेक्नालाॅजी के रायपुर स्थित साइंस सेंटर का भ्रमण कराया गया। भ्रमण के दौरान मानव विज्ञान, भूविज्ञान, माइक्रोबायलाॅजी, वनस्पति शास्त्र, प्राणीशास्त्र, अंतरिक्ष विज्ञान, गणित, बायोटेक्नालाॅजी, भौतिकी, रसायन तथा प्राणीशास्त्र विषयों पर आधारित प्रयोगों को मूर्त रूप में देखकर विद्यार्थी अचंभित हो गये। अनेक विद्यार्थियों ने इंस्पायर प्रोग्राम के दौरान प्राप्त सैध्दांतिक एवं प्रायोगिक जानकारी को अत्यंत लाभप्रद बताते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजन निरंतर जारी रहना चाहिए। साईंस सेंटर में विद्यमान टेलीस्कोप, दूरबीन, ब्लड प्रेशर मशीन, सापेक्षता का सिध्दांत, न्यूटन के सिध्दांत आदि के जीवंत प्रस्तुतिकरण के दौरान विद्यार्थियों ने उपस्थिति मार्गदर्शकों से अनेक प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासा का समाधान किया। 
आयोजकों के अनुसार कल इंस्पायर कैम्प के चैथे दिन विद्यार्थियों को विभिन्न प्रयोगशालाओं में प्रायोगिक कार्य के साथ-साथ एन.एस.आई.टी. नई दिल्ली के गणितज्ञ प्रोफेसर विजय गुप्ता एवं एम.एस. युनिवर्सिटी बड़ौदा के डाॅक्टर के.वी.आर मूर्ति का आमंत्रित व्याख्यान होगा। इसके साथ-साथ डीएसटी नई दिल्ली के निर्देशानुसार विद्यार्थियों के मन में आने वाले नये-नये आइडिया के प्रस्तुतिकरण के पश्चात् श्रेष्ठ 10 प्रस्तुतिकरण को पुरस्कृत किया जायेगा। इंस्पायर कैम्प में विभिन्न विषयों के सैध्दांतिक एवं प्रायोगिक कार्यो के दौरान अनेक विद्यार्थियों ने अपने नये -नये विचारों से प्राध्यापकों को अवगत कराया गया है। उल्लेखनीय है कि इस इंस्पायर कैम्प में हिस्सा ले रहे 200 हायर सेकेण्डरी स्तर के 11वीं कक्षा के विद्यार्थियों में 115 छात्राऐं तथा 85 छात्र शामिल है। 

साइंस कालेज, दुर्ग में इंस्पायर कैम्प का तीसरा दिन इंस्पायर कैम्प में सांस्कृतिक संध्या में दिखा राष्ट्रीयता एवं छत्तीसगढ़ की संस्कृति का संगम Photos