Photo Gallery

Photo Gallery: शासकीय सेवा से सेवा निवृत्त होना हमारे जीवन का नया अध्याय - डाॅ. राजपूत

 

शासकीय सेवा से सेवा निवृत्त होना हमारे जीवन का नया अध्याय - डाॅ. राजपूत


Venue : Govt. V.Y.T. PG Autonomous College, Durg
Date : 01/02/2018
 

Story Details

शासकीय सेवा से सेवा निवृत्त होना हमारे जीवन का नया अध्याय आरंभ होने के समान है। हमें शासन की सेवा ईमानदारी पूर्वक करना चाहिए। ये उद्गार महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. एस.के. राजपूत ने आज शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में आज लगभग 35 वर्षों से अधिक की शासकीय सेवा के पश्चात् दो प्रयोगशाला तकनीशियन श्री पुष्प कुमार देशलहरे (भूगर्भशास्त्र) एवं श्री रिखीराम पटेल (प्राणीशास्त्र) के सम्मान में आज महाविद्यालय में बिदाई समारोह में व्यक्त किये। डाॅ. राजपूत ने दोनों कर्मचारियों की कर्तव्यनिष्ठा एवं समय की पाबंदी की सराहना करते हुए कहा कि प्रत्येक शासकीय सेवक को इसका पालन करना चाहिए। 

कार्यक्रम का संचालन करते हुए भूगोल विभाग के श्री राजेश श्रीवास्तव ने सेवा निवृत्त कर्मचारियों का परिचय एवं शासकीय सेवाकाल में उनके द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया। महाविद्यालय के मुख्य लिपिक श्री राधे लाल यादव ने अपने संबोधन में कहा कि सेवा निवृत्ति एवं शासकीय सेवा में उपस्थिति एक शासकीय प्रक्रिया है। श्री पटेल एवं देशलहरे के उल्लेखनीय योगदान की प्रशंसा करते हुए श्री यादव ने अन्य कर्मचारियों के लिए भी इसे अनुकरणीय बताया। प्राणीशास्त्र विभाग की विभागाध्यक्ष डाॅ. कांति चैबे ने सेवा निवृत्त कर्मचारियों की कर्तव्य निष्ठा की सराहना करते हुए उनके दीर्घ एवं स्वस्थ्य जीवन की कामना की। भूगर्भशास्त्र के विभागाध्यक्ष डाॅ. एस.डी. देशमुख ने अपने संबोधन में कहा कि परिवार के रूप में शासकीय सेवा इस महाविद्यालय की विशेषता है। भूगर्भशास्त्र के प्राध्यापक डाॅ. प्रशांत श्रीवास्तव ने दोनों सेवा निवृत्त कर्मचारियों के सहयोगात्मक रवैये एवं महाविद्यालय के प्रति निष्ठा को अनेक रोचक उदाहरणों के माध्यम से निरूपित किया। महाविद्यालय के वरिष्ठ कर्मचारी श्री दिनेश यादव ने भी उक्त दोनों कर्मचारियों के सहयोगात्मक रवैये की प्रशंसा की। 

महाविद्यालय के रसायन शास्त्र विभाग की प्रयोगशाला तकनीशियन श्रीमती प्रतिभा श्रीवास्तव ने अपने कर्मचारी साथियों की सेवा निवृत्ति एवं उनके साथ बिताये गये मार्मिक क्षणों का उल्लेख किया। प्रयोगशाला तकनीशियन श्री सलीम अहमद ने अपने कार्यालय में उक्त दोनों कर्मचारियों द्वारा मिले सहयोग की सराहना करते हुए कहा कि आज सेवा निवृत्ति के दिन उक्त दोनों कर्मचारियों के पेंशन संबंधी प्रपत्र प्राचार्य महोदय सौंपने जा रहे है। कार्यक्रम के आरंभ में अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत प्राचार्य डाॅ. एस.के. राजपूत, मुख्य लिपिक श्री राधे लाल यादव, श्रीमती शैल तिवारी, श्री सलीम अहमद, आनंद कुमार देवांगन, श्रीमती रंजना कश्यप आदि ने किया। कार्यक्रम के दौरान प्राचार्य डाॅ. राजपूत एवं मुख्य लिपिक राधे लाल यादव ने समस्त कर्मचारियों की ओर से सेवा निवृत्त श्री पटेल एवं देशलहरे को श्रीफल एवं शाॅल भेंट कर सम्मानित किया तथा स्मृति स्वरूप उपहार भी प्रदान किये। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन श्रीमती किरण राखी पटले ने किया। अपने स्वागत के प्रतिउत्तर में श्री रिखी राम पटेल ने महाविद्यालय में की गयी अपनी सेवाकाल का स्मरण करते हुए कई स्मरणों का उल्लेख किया। श्री पटेल ने महाविद्यालय के विभिन्न विभागों में सेवाकाल के दौरान मिले सहयोग के प्रति धन्यवाद भी ज्ञापित किया। अपने बिदाई समारोह में धन्यवाद ज्ञापित करते हुए श्री पुष्प कुमार देशलहरे ने महाविद्यालय के प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी के प्रति सहयोगात्मक रवैये की तारीफ की। इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कार्यालयीन तथा प्रयोगशाला कर्मचारी उपस्थित थे। 


शासकीय सेवा से सेवा निवृत्त होना हमारे जीवन का नया अध्याय - डाॅ. राजपूत Photos