Photo Gallery

Photo Gallery: साइंस कालेज दुर्ग में मुख्यमंत्री स्वालम्बन योजना के अंतर्गत 45 दिनों का प्रशिक्षण कार्यक्रम समाप्त

 

साइंस कालेज दुर्ग में मुख्यमंत्री स्वालम्बन योजना के अंतर्गत 45 दिनों का प्रशिक्षण कार्यक्रम समाप्त


Venue : Govt. V.Y.T. PG Autonomous College, Durg
Date : 20/12/2017
 

Story Details


मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना विद्यार्थियों के लिए अत्यंत हितकारी है। रोजगार प्राप्ति हेतु विभिन्न प्रकार की तैयारियों के लिए इस योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होती है। बड़ी संख्या में विद्यार्थियों को इस महत्वकांक्षी योजना में शामिल होना चाहिए ये उद्गार शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग के प्राचार्य डाॅ. एस.के. राजपूत ने महाविद्यालय के रवीन्द्रनाथ टैगारे सभागार में व्यक्त किये। डाॅ. राजपूत महाविद्यालय में 45 दिनों से चल रहे मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना के अंतर्गत लगभग 150 से अधिक विद्यार्थियों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह में बोल रहे थे। डाॅ. राजपूत ने कहा कि विद्यार्थियों को प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान भाषा की सम्प्रेषण क्षमता, लेखन क्षमता किसी विषय वस्तु को प्रस्तुत करने की विद्यार्थी की दक्षता तथा साक्षात्कार के दौरान ध्यान में रखी जाने वाली बातों का जो गहन प्रशिक्षण दिया गया। वह विद्यार्थियों के लिए अत्यंत लाभकारी सिध्द होगा। 
महाविद्यालय में मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना क्रियान्वयन के प्रभारी प्राध्यापक डाॅ.एम.ए. सिध्द्दीकी ने बताया कि महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने इसमें अत्यंत रूचि लेकर प्रशिक्षण कार्यक्रम में न केवल अपनी सहभागिता दी अपितु अनेक बिंदुओं पर प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासाओं को शांत भी किया। स्नातक स्तर के विज्ञान विषयों की कक्षायें प्रातःकालीन सत्र में तथा कला एवं वाणिज्य विषयों की प्रशिक्षण कक्षायें सायंकालीन सत्र में आयोजित की गयी। महाविद्यालय के रवीन्द्रनाथ टैगोर सभागार में प्रतिदिन आयोजित होने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में लगभग 100 से अधिक छात्राओं शेष छात्रों ने हिस्सा लिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजन समिति के सदस्य डाॅ. मौसमी डे, डाॅ. श्रीराम कुंजाम, डाॅ. दुर्गेश कोटांगले एवं डाॅ. मीना मान ने छत्तीसगढ़ शासन की मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना को विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास हेतु मील का पत्थर निरूपित करते हुये कहा कि इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम भविष्य में भी आयोजित किये जायेंगे। उन्होंने अधिक से अधिक विद्यार्थियों को इस प्रकार के लाभदायी प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने का आव्हान किया। प्रतिदिन छत्तीसगढ़ शासन के विभाग चिप्स द्वारा नियुक्त दो प्रशिक्षकों इंजीनियर प्रतीक्षा तिवारी तथा एक अन्य प्रशिक्षक ने विद्यार्थियों को गहन प्रशिक्षण दिया। विद्यार्थियों ने समापन समारोह में इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम को अपने व्यक्तित्व विकास में सहायक बताया।