Photo Gallery

Photo Gallery: साइंस कालेज दुर्ग में तनाव प्रबंधन पर व्याख्यान तनाव से डरने के बजाये तनाव का सामना करें - डाॅ. उषा किरण अग्रवाल

 

साइंस कालेज दुर्ग में तनाव प्रबंधन पर व्याख्यान तनाव से डरने के बजाये तनाव का सामना करें - डाॅ. उषा किरण अग्रवाल


Venue : Govt. V.Y.T. PG Autonomous College, Durg
Date : 01/12/2017
 

Story Details

तनाव से डरने की बजाए तनाव का सामना करना सीखे । तनाव हमारी उन्नती में बाधक होता है । ये उदगार डाॅ. उषाकिरण अग्रवाल, प्राध्यापक शासकीय डी.बी. महिला महाविद्यालय, रायपुर ने आज  शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग द्वारा तनाव प्रबंधन पर एक व्याख्यान में व्यक्त किये । डाॅ. अग्रवाल आज  मुख्य वक्ता के रूप में तनाव प्रबंधन पर आमंत्रित व्याख्यान दे रही थी। डाॅ. उषाकिरण ने तनाव की व्याख्या करते हुए तनाव के दो रूप बताये। धनात्मक तनाव एवं ऋणात्मक तनाव। उन्होंने कहा कि धनात्मक एवं ऋणात्मक तनाव के बीच एक बहुत पतली लकीर होती है। ऋणात्मक तनाव व्यक्ति के लिए घातक होता है, परंतु धनात्मक तनाव व्यक्ति को कार्य करने की अभिप्रेरणा प्रदान करता। उन्होंने कहा कि । इसके लिए जरूरी है कि हर चुनौतियों का सामना करें। चुनौतियाॅं व्यक्ति को परिपक्व बनाती है। उन्होंने यह भी कहा अपने आप को वैसा ही देखे जैसा आप है। अपनी योग्यता एवं क्षमता को पहचान कर ही कोई कार्य करना चाहिए। आपके अन्दर जो शक्तियाॅं उसे पहचानिएॅं। हसिये, मुस्कुराइऐं और दूसरो को खुश करने के बजाए अपने आपको खुश रखने की कोशिश करें। व्याख्यान के दौरान उन्होंने छात्र-छात्राओं के साथ विचारों का आदान-प्रदान करते हुए तनाव कम करने हेतु योग अभ्यास भी कराएं। 
महाविद्यालय की वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. शीला अग्रवाल ने अतिथि का स्वागत किया। डाॅ. रचिता श्रीवास्तव ने व्याख्यान का आयोजन एवं संचालन किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के छात्र-छात्राओं के साथ डाॅ. ए.के. पाण्डेय एवं डाॅ. प्रशांत श्रीवास्तव विशेष रूप से उपस्थित थे।

साइंस कालेज दुर्ग में तनाव प्रबंधन पर व्याख्यान तनाव से डरने के बजाये तनाव का सामना करें - डाॅ. उषा किरण अग्रवाल Photos