Photo Gallery

Photo Gallery: बच्चो के व्यवहारिक ज्ञान को सुदृढ करने का प्रयास बच्चो को अपना कैरियर अपनी रूचि के अनुसार चुनना चाहिए

 

बच्चो के व्यवहारिक ज्ञान को सुदृढ करने का प्रयास बच्चो को अपना कैरियर अपनी रूचि के अनुसार चुनना चाहिए


Venue : Govt. V.Y.T. PG AUTONOMOUS COLLEGE, DURG
Date : 01/02/2020
 

Story Details

प्रायः हम बचपन से सुनते आये है कि नींव जितनी मजबूत होगी मकान उतना ही सुदृढ बनेगा, जडे़ जितनी मजबूत होगी वृक्ष उतना ही शानदार होगा । इसी प्रकार विद्यालय के बच्चो को हम जितना व्यवहारिक ज्ञान देंगे, जितना उन्हे कर के सीखने का मौका देंगे उतनी ही उनकी नीव, ठोस और मजबूत होगी । इसी बात को ध्यान मे रखते हुए प्राचार्य डाॅ. आर.एन.सिंह के निर्देषानुसार शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में आई क्यू ए सी तथा  भौतिकषास्त्र विभाग के एम. एस. सी. द्वितीय एवं चतुर्थ के विद्यार्थियो ने शासकीय उच्चतर माघ्यमिक विद्यालय कोडिया, दुर्ग का भ्रमण किया। इसका मुख्य उद्देष्य विद्यालय के बच्चों को स्वच्छता, स्वास्थ्य और उनके आने वाले भविष्य से जुडे रोजगार परक षिक्षा के बारे में जागरूक करना था,  जिससे वे सही दिषा में अपना लक्ष्य निर्धारित कर सके । इस कार्यक्रम में एम.एस.सी अंतिम के छात्र लक्ष्मीप्रसाद मिश्रा, भानूप्रकाष, रोहित साहू, रितेष और अनंत कुमार ने स्कूली विद्यालय के बच्चों को आर्डिनो के बारे में बताया की किस प्रकार आर्डिनों कार्य करता है तथा इसके क्या लाभ हैे। रोषन, रोहित इक्का, गीतांजली, योगेष्वरी, डोमेष्वरी अदिति सिंह, समता सलेचा, विमल सिन्हा एवं रवि द्वारा विद्यालय के बच्चों को वर्नियर कैलिपर्स, स्क्रूगेज, टेलिस्कोप का प्रयोगिक प्रदर्षन कर उसके बारे में समझाया। प्रो. सितेष्वरी चन्द्राकर, प्रिंस, तुषार, अजय सेन, चेतना देषमुख, आचल, मुक्ति एवं आकर्षित द्वारा स्कूली बच्चों का स्वच्छता सर्वेक्षण भी कराया गया जिससे स्वच्छता से संबधित प्रष्नों को पूछ कर उनका स्वच्छता एवं साफ सफाई के बारे में आकलन किया गया। डाॅ. अनिता शुक्ला, डाॅ. अभिषेक मिश्रा, लुबना खान एवं प्रियंका द्वारा एक क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें कक्षा नवमीं, दसवीं एवं ग्यारवी के सभी विद्यार्थियों ने भाग लिया, इस प्रतियोगिता मे सामान्य ज्ञान एवं विज्ञान से संबंधित प्रष्नों को पूछा गया।
एम.एस.सी. चतुर्थ सेमेस्टर के विद्यार्थी सूत्रधार प्रतिक्षा तिवारी एवं निकिता उसरे द्वारा नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया जिसमें अजय, रितेष एवं विमल ने नाटक के माध्यम से यह संदेष दिया कि कैरियर को चुनते समय यह अत्यंत आवष्यक है कि जिस क्षेत्र में हमारी रूचि है उसी क्षेत्र में जाना चाहिए। उषा, आस्था, लीना, सुरभि, पायल, डोमिनलता, डोमेष्वरी ने मोबाईल से मिलने वाले फायदे एवं नुकसान के बारे में रूपान्तरण नाटक के माध्यम से बताया की मोबाईल द्वारा किस प्रकार से अपनी पठन पाठन शैली मे सुधार लाया जा सकता है तथा उन्होने मोबाईल के ज्यादा उपयोगे से सचेत रहने के बारे में बताया। साथ ही साथ यह संदेष दिया कि अपने भविष्य से खिलवाड मत कीजिए तथा सोषल मीडिया का कम से कम उपयोग कीजिए। सोषल मीडिया पर घंटो समय बिताना एक प्रकार की लत है जिसके परिणाम बहुत घातक हो सकते है। 
इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य श्री अनिल कुमार गुप्ता ने भौतिक शास्त्र विभाग के प्राध्यापको का स्वागत करते हुए कहा की यह बहुत ही सराहनीय प्रयास है। इस आयोजन से विद्यालय के बच्चों को अपना कैरियर चुनने में सरलता होगी उन्होने कहा की उनके विद्यालय द्वारा बच्चों को गुणवत्ता परक षिक्षा प्रदान की जा रही है। जिसका सारा श्रेय विद्यालय के अध्यापको, अध्यापिकाओं को जाता है। इस अवसर पर आई.क्यु.ए.सी. संयोजक जगजीत कौर सलुजा ने विद्यालय के प्रचार्य को धन्यवाद देते हुए कहा की स्कुल के बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र से जुडी नवीनतम उपलब्धियों को प्रमुखता पूर्वक समझाया जाये। उन्होने कहा की इनमें से अगर कुछ विद्यार्थी अनिवार्य रूप से विज्ञान से जुडते हुए विज्ञान की प्रगति में अपना योगदान भविष्य में करेंगे तो इस कार्यक्रम का उद्देष्य सफल हो जायेगा। विभाग के समस्त प्रध्यापकों एवं समस्त पी.जी. विद्यार्थियों द्वारा भौतिक विभाग से जुडे अविष्कारों के बारे मे तथा उन्होने एच. जे. भाभा एवं डाॅ.ए.पी.जे.अब्दुल कलाम के जीवन से संबंधित उदाहरणो को बताते हुए कहा की किस प्रकार इन भारतीय वैज्ञानिकों ने भारत का नाम पूरे विष्व में उंचा किया। साथ ही साथ स्वच्छता का महत्व तथा उसकी अनिवार्यता के बारे में बताते हुए कहा की स्वच्छता मानसिक, षारीरिक, बैध्दिक एवं सामाजिक प्रकार की होती है, तथा सभी को स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में अपना योगदान चाहिए जिससे हमारा समाज स्वच्छता की ओर बढेगा तथा भविष्य में इस अभियान का परिणाम अवष्य मिलेगा। डाॅ.जगजीत कौर सलुजा ने प्राचार्य से कहा की बच्चों की भागीदारी सुनिष्चित करने के लिए सभी संबंधित विषयों में निबंध, स्लोगन, पेंटिंग, क्विज का आयोजन करते रहना चाहिए। 
इस प्रकार स्वच्छता सर्वेक्षण से प्रथम पांच विजयी बच्चों तथा कक्षा नवमीं, दसवीं, ग्यारवीं से प्रथम तीन विजयी विद्र्यािर्थयों को भौतिक शास्त्र के प्राध्यापकों द्वारा पुरस्कृत किया गया एवं ग्राम कोडिया में स्वच्छता एवं जागरूकता संबंधित रैली भी निकाली गयी। सभी कार्यक्रमांे को विद्यालय के बच्चों ने आनंद उठाया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन अध्यापिका श्रीमती नीलमणि उज्जौनी द्वारा किया गया। इस दौरान डाॅ. जगजीत कौर सलुजा, डाॅ.आर.एस.सिंह, डाॅ. अनिता शुक्ला, सितेष्वरी चन्द्राकर, डाॅ. अभिषेक मिश्रा के साथ हायर सेकेण्ड्री विद्यालय के प्राचार्य अनिल कुमार गुप्ता, अध्यापक, अध्यापिका एवं हायर सेकेण्ड्री विद्यालय के विद्यार्थी उपस्थित थे। विभागाध्यक्ष डाॅ. पूर्णा बोस ने कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रषंसा व्यक्त की तथा सभी की सहभागिता पर खुषी व्यक्त की। प्राचार्य डाॅ. आर.एन.सिंह ने समस्त पी.जी. छात्रों को षुभकामनाएं तथा उत्साहवर्धित करते हुए कहा की यह बहुत ही अच्छा अवसर है जब महाविद्यालय के छात्र विद्यालय के बच्चों को अपना अनुभव बाटतें तथा उन्हे  मार्गदर्षित करने के लिए प्रयास करते है। 

बच्चो के व्यवहारिक ज्ञान को सुदृढ करने का प्रयास बच्चो को अपना कैरियर अपनी रूचि के अनुसार चुनना चाहिए Photos