Photo Gallery

Photo Gallery: युवा उत्सव अंतर्महाविद्यालयीन क्विज स्पर्धा एवं रंगोली स्पर्धा में विद्यार्थियों ने दिया अपनी दक्षता का परिचय

 

युवा उत्सव अंतर्महाविद्यालयीन क्विज स्पर्धा एवं रंगोली स्पर्धा में विद्यार्थियों ने दिया अपनी दक्षता का परिचय


Venue : Govt. Science College Durg
Date : 16/10/2017
 

Story Details

दुर्ग विश्वविद्यालय, दुर्ग के तत्वावधान में आयोजित युवा उत्सव के अंतर्गत आज शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में आयोजित अंतर्महाविद्यालयीन क्विज एवं रंगोली स्पर्धा में विभिन्न महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने अपनी दक्षता का उल्लेखनीय प्रदर्शन किया। आयोजक महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एस.के. राजपूत एवं युवा उत्सव क्विज स्पर्धा की प्रभारी डॉ. अनुपमा अस्थाना ने संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि अतर्महाविद्यालयीन क्विज स्पर्धा एवं रंगोली स्पर्धा में प्रथम , द्वितीय तथा तृतीय प्राप्त टीमों की घोषणा दुर्ग विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण द्वारा की जावेगी। विजेता टीम भोपाल में आयोजित अतर्विश्वविद्यालयीन युवा महोत्सव प्रतियोगिता में दुर्ग विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करेगी। युवा उत्सव के संयोजक डॉ. एस.एन. झा के अनुसार आज आयोजित क्विज स्पर्धा में प्रारंभिक चरण में वैकल्पिक प्रश्नों युक्त लिखित परीक्षा में कुल 13 महाविद्यालयां की टीम ने हिस्सा लिया। प्रारंभिक चरण में लिखित परीक्षा के मूल्यांकन के पश्चात् कुल 06 टीमों का चयन अंतिम राउंड में हिस्सा लेने हेतु किया गया। इन 06 टीमों में शासकीय खूबचंद बघेल महाविद्यालय भिलाई -03, मॉडल कालेज, राजनांदगांव, विश्वनाथ यादव तामस्कर महाविद्यालय, दुर्ग, शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय, राजनांदगांव, शासकीय इंदिरा गांधी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, वैशाली नगर तथा स्वामी स्वरूपानंद महाविद्यालय, हुडको भिलाई शामिल थी। द्वितीय एवं अंतिम राउंड को 06 चक्रो में विभक्त किया गया था। प्रतियोगिता का उद्घाटन दुर्ग विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एन.पी. दीक्षित ने किया। अपने संबोधन में डॉ. दीक्षित ने प्रतिभागियों को स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा एवं कड़ी मेहनत के साथ-साथ खेल भावना से खेलने का संदेश दिया। साईंस कालेज दुर्ग के प्राचार्य डॉ. एस.के. राजपूत ने महाविद्यालय की क्विज स्पर्धा आयोजन टीम के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि क्विज स्पर्धा में भाग लेने के साथ-साथ उपस्थित श्रोताओं के ज्ञान में भी उल्लेखनीय वृध्दि होती है। अतः विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास हेतु इस तरह की गतिविधियां आवश्यक है। क्विज स्पर्धा की संयोजक डॉ. अनुपमा अस्थाना ने प्रतिभागियों को धैर्यपूर्वक प्रश्नों के उत्तर देने की सलाह दी। संचालक डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव ने प्रतियोगिता के आरंभ में प्रतिभागियों को नियमावली, सही उत्तर देने पर आबंटित होने वाले अंक तथा दर्शकों के मध्य पूछे जाने वाले प्रश्नों की विस्तृत जानकारी दी। क्विज स्पर्धा के 06 राउंड में से प्रथम राउंड जनरल नॉलेज राउंड का संचालन डॉ. संजय दास एवं डॉ. ज्योति धारकर, द्वितीय राउंड बजर राउंड का संचालन डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव एवं डॉ. सपना शर्मा तृतीय राउंड ऑडियो राउंड का संचालन डॉ. श्रीनिवास देशमुख, चतुर्थ राउंड विजुअल राउंड का संचालन डॉ. विलास राव गीते, पंचम राउंड रेपीड फायर राउंड का संचालन डॉ. शकील हुसैन एवं अन्तिम लॉटरी राउंड का संचालन डॉ. अजय सिंह एवं डॉ. सोमा सेन ने किया। स्कोरर के रूप में महाविद्यालय की प्राध्यापकों की टीम में डॉ. उपमा श्रीवास्तव, डॉ. सुनीता मैथ्यू तथा डॉ. अभिषेक मिश्रा उपस्थित थे। प्रश्नों के निर्धारित समय में उत्तर देने हेतु समय पाल की भूमिका श्री दिनेश मिश्रा एवं श्री प्रदीप ने निभायी। प्रतियोगिता के अंत में धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. राजेन्द्र चौबे ने किया। क्विज स्पर्धा के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों में डॉ. ओ.पी. गुप्ता, डॉ. ए.के. खान, डॉ. अनिल कश्यप, डॉ. जी.एस. ठाकुर, डॉ. एल.के. भारती, डॉ. अल्का मिश्रा, डॉ. मौसमी डे, डॉ. दिव्या कुमुदिनी मिंज, डॉ. नीरू अग्रवाल, डॉ. मर्सी जॉर्ज, डॉ. अनिता शुक्ला, डॉ. शाहीन गनी, प्रो. दिलीप साहू, डॉ. विनोद साहू, प्रो.दुर्गेश कोटांगले, डॉ. सपना शर्मा, डॉ. ज्योति धारकर, डॉ. संजू सिन्हा प्रमुख थे। 
रंगोली प्रतियोगिता की प्रभारी प्राध्यापक डॉ. नूतन राठौड़ एवं डॉ. उपमा श्रीवास्तव ने बताया कि महाविद्यालय के इंडोर हॉल में आयोजित अतर्महाविद्यालयीन रंगोली स्पर्धा में विभिन्न महाविद्यालयों की कुल 09 टीमों ने हिस्सा लिया। भाग लेेने वाले टीमों में तामस्कर महाविद्यालय, दुर्ग, पाटणकर कन्या महाविद्यालय, दुर्ग, शासकीय महाविद्यालय, भिलाई-03, शासकीय महाविद्यालय धमधा, सेंट थामस कालेज, भिलाई, शंकराचार्य कालेज, जुनवानी भिलाई, दिग्विजय कालेज, राजनांदगांव, शासकीय नवीन कालेज खुर्सीपार की टीमें शामिल थी। भाग लेने वाले प्रतिभागियों में बेटी बचाओ , बेटी पढ़ाओं प्रकृति, छत्तीसगढ़ की संस्कृति, योग ध्यान, स्वच्छता, नारी संरक्षण आदि पर केन्द्रित सुन्दर रंगोलियां बनाकर निर्णायकों को सोचने पर मजबूर कर दिया। रंगोली प्रतियोगिता में निर्णायकों की भूमिका डॉ. वैदेही शर्मा, डॉ. अरूणा साव एवं डॉ. सरिता श्रीवास्तव ने निभायी। रंगोली प्रतियोगिता के आयोजन में डॉ. गायत्री पाण्डेय, डॉ. सुषमा यादव, डॉ. अल्का मिश्रा, डॉ. संजू सिन्हा, डॉ. विजय लक्ष्मी नायडू, डॉ. अनुपमा अस्थाना, डॉ. मौसमी डे का उल्लेखनीय योगदान रहा।