Photo Gallery

Photo Gallery: साईंस कालेज, दुर्ग में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित

 

साईंस कालेज, दुर्ग में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित


Venue : Govt. V.Y.T. PG AUTONOMOUS COLLEGE, DURG
Date : 02/10/2019
 

Story Details

साईंस कालेज, दुर्ग में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित
महात्मा गांधी के विचार हर युग में प्रासंगिक - कुलपति डाॅ. अरूणा पल्टा 

महात्मा गांधी के विचार हर युग में प्रासंगिक है। हमें गांधी जी के बताये गये मार्ग का अनुसरण कर स्वयं के जीवन को खुषहाल बनाने का प्रयत्न करना चाहिए। ये उद्गार हेमचंद यादव विष्वविद्यालय, दुर्ग की कुलपति डाॅ. अरूणा पल्टा ने आज शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग के रवीन्द्रनाथ टैगोर सभागार में व्यक्त किये। डाॅ. पल्टा आज महाविद्यालय में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बड़ी संख्या के रूप में उपस्थित प्राध्यापकों, कर्मचारियों एवं छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रही थी। डाॅ. अरूणा पल्टा ने विद्यार्थियों को बाहरी स्वच्छता के साथ-साथ मानसिक स्वच्छता रखने पर भी बल दिया। महात्मा गांधी को मितव्ययी बताते हुए डाॅ. पल्टा ने कहा कि दुर्ग विष्वविद्यालय महात्मा गांधी पर आधारित राष्ट्रीय स्तर की आॅनलाईन निबंध प्रतियोगिता आयोजित करने जा रहा है। समीपस्थ ग्राम खपरी में एन.एस.एस. के माध्यम से दुर्ग विष्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले 18 चुनिंदा महाविद्यालयों द्वारा प्रतिदिन महात्मा गांधी पर आधारित कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। स्वच्छता अभियान के अंतर्गत साईंस कालेज, दुर्ग के भौतिक रूप से निरीक्षण के दौरान डाॅ. अरूणा पल्टा ने महाविद्यालय की प्रयोगषालाओं, व्याख्यान कक्षों, ग्रंथालय एवं अन्य जगहों का निरीक्षण कर महाविद्यालय की साफ-सफाई एवं प्रयोगषालाओं के रख-रखाव की प्रषंसा की। 
कार्यक्रम के आरंभ में संचालक डाॅ. जय प्रकाष साव ने 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री की जयंती से संबंधित विवरण देते हुए बताया कि आज ही के दिन यूनेस्को द्वारा विष्व अहिंसा दिवस घोषित किया गया था। डाॅ. साव ने गांधी जी को सत्य एवं अहिंसा के मार्ग में चल कर संघर्ष का औजार बनाने वाला अनूठा व्यक्ति करार दिया। उन्होंने भारतीयता में विनम्रता का उल्लेख करते हुए कहा कि गांधी जी के जीवन में आश्रमों का विषेष स्थान रहा। महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह ने अपने स्वागत भाषण में डाॅ. अरूणा पल्टा का परिचय देते हुए उन्हें कर्मठ एवं कुषल प्रषासक बताया। डाॅ. सिंह ने गांधी जी एवं शास्त्री जी की सादगी का स्मरण करते हुए विद्यार्थियों से लक्ष्य युक्त अध्ययन का आव्हान किया। 



सरस्वती वंदना के साथ आरंभ हुए कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि डाॅ. अरूणा पल्टा का पुष्प गुच्छ से स्वागत करने वालों में प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह, डाॅ. एम.ए. सिद्दीकी, डाॅ. अनुपमा अस्थाना, मुख्य लिपिक श्री संजय यादव एवं छात्रसंघ उपाध्यक्ष प्रगति अग्रवाल शामिल थे। कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं कु. वर्षा वर्मा, कु. निषा सिंह, सोमनाथ साहू, कु. वैष्णवी तथा कु. काजल हरप्रीत ने गांधी जी के भजनों की मोहक प्रस्तुति दी। संगतकार के रूप में राजा जैन एवं भूपेन्द्र उपस्थित थे। 
गांधी जी के महान योगदान पर चर्चा करते हुए एम.एससी तृतीय सेमेस्टर रसायन के छात्र आषीष देवांगन ने कहा कि न केवल भारतीय बल्कि वैष्विक परिवेष में भी गांधी जी के विचार प्रासंगिक है। सत्य परेषान हो सकता है, किंतु पराजित नहीं। बी.एससी तृतीय वर्ष की छात्रा कु. विषु आडिल ने अपने संबोधन में महात्मा गांधी को मजबूती का नाम बताया। मुख्य अतिथि डाॅ. अरूणा पल्टा ने महाविद्यालय में महात्मा गांधी पर केन्द्रित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया। क्विज स्पर्धा में 130 अंकों के साथ साबरमती टीम प्रथम रही तथा सेवाग्राम टीम को 105 अंकों के साथ द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। रंगोली स्पर्धा में प्रथम स्थान डेमन तथा द्वितीय स्थान कृष्णा पटेल एवं रूपेष कुमार को तथा तृतीय स्थान मोनिशा साहू को मिला। इस अवसर पर प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह ने सभागार में उपस्थित सभी लोगों को स्वच्छता संबंधी शपथ दिलायी। महाविद्यालय की प्राध्यापकों द्वारा श्रीफल, शाॅल एवं स्मृति चिन्ह भेंटकर कुलपति डाॅ. पल्टा को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. एम.ए. सिद्दीकी ने किया। 

साईंस कालेज, दुर्ग में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित Photos