Photo Gallery

Photo Gallery: उच्चशिक्षा विभाग द्वारा प्राचार्यों के प्रषिक्षण का चतुर्थ चरण साइंस कालेज दुर्ग का छत्तीसगढ़ के शासकीय महाविद्यालयों के 27 प्राचार्यो ने किया भ्रमण

 

उच्चशिक्षा विभाग द्वारा प्राचार्यों के प्रषिक्षण का चतुर्थ चरण साइंस कालेज दुर्ग का छत्तीसगढ़ के शासकीय महाविद्यालयों के 27 प्राचार्यो ने किया भ्रमण


Venue : Govt. V.Y.T. PG AUTONOMOUS COLLEGE, DURG
Date : 27/08/2019
 

Story Details

उच्चशिक्षा विभाग द्वारा प्राचार्यों के प्रषिक्षण का चतुर्थ चरण 
साइंस कालेज दुर्ग का छत्तीसगढ़ के शासकीय महाविद्यालयों के 27 प्राचार्यो ने किया भ्रमण 

  शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में छत्तीसगढ़ उच्च षिक्षा विभाग के द्वारा निमोरा प्रषिक्षण केंद्र में 21 दिवसीय प्रषिक्षण प्राप्त कर रहे करीब 27 शासकीय महाविद्यालयों के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्राचार्यो ने भ्रमण किया। महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह ने बताया कि 21 दिवसीय प्रषिक्षण के दौरान प्राचार्यो को एक दिन ए ग्रेड प्राप्त पं. रविषंकर शुक्ल वि. वि. रायपुर तथा ए प्लस ग्रेड प्राप्त साइंस काॅलेज दुर्ग का भ्रमण कराया गया, जिसमें यहां प्राप्त उपलब्धियों एवं संसाधनों का विकास वे प्राचार्य अपने-अपने महाविद्यालयों में कर सकें।
उच्च षिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा आयोजित इस भ्रमण के आरंभ में साइंस कालेज, दुर्ग के विवेकानंद आॅडियों विजुअल हाल में पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया गया। कार्यक्रम के संचालक आईक्यूएसी सदस्य डाॅ. प्रषांत श्रीवास्तव ने प्राचार्यो के प्रषिक्षण कार्यक्रम एवं इसकी महत्ता पर प्रकाष डालते हुए आईक्यूएसी सेल तथा इतिहास विभाग द्वारा निर्मित महाविद्यालय की उपलब्धियों पर आधारित वृत्तचित्र का प्रदर्षन किया। डाॅ. ज्योति धारकर की नेपथ्य में आवाज पर आधारित इस डाक्यूमेंट्री फिल्म की सभी प्राचार्यो ने प्रषंसा की। महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक इस अवसर पर उपसिथत थे।
अपने स्वागत भाषण में डाॅ. एम.ए. सिद्दीकी ने साइंस कालेज दुर्ग को नैक द्वारा ए प्लस ग्रेड भी प्राप्ति का मूलमंत्र महाविद्यालय की एकता एवं समर्पण की भावना को बताया। उन्होंने समस्त प्राचार्यो से अपील की वे अपने स्टाफ पर विष्वास कर स्वच्छंदता पूर्वक उनका मार्गदर्षन करें। प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि महाविद्यालय के इतिहास में द्वितीय बार एक साथ 27 प्राचार्य एक ही समय पर महाविद्यालय पधारे हैं। उच्च षिक्षा विभाग के इस कदम की सराहना करते हुए डाॅ. सिंह ने कहा कि निष्चित रूप से इस भ्रमण के पष्चात प्राचार्यो को एक नई उर्जा एवं दिषा प्राप्त होगी जिसमें वे अपने महाविद्यालयों का विकास कर सकेंगे। डाॅ. सिंह ने हर महाविद्यालय को अनेक उपलब्धियों से भरा बताते हुए कहा कि हमें केवल अपने विशेषताओं का मूल्यांकन करना आना चाहिए। 
प्रषिक्षण प्राप्त कर रहे प्राचार्यो को 15-15 के दो समूहों में विभक्त कर महाविद्यालय के समस्त महत्वपूर्ण विभागों रसायन, भौतिकी, गणित, भूगर्भशास्त्र, माइक्रोबायलाॅजी, बायोटेकनालाॅजी, प्राणीषास्त्र, वनस्पतिश्षास्त्र, ग्रंथालय, स्मार्ट क्लास रूम कम्प्यूटर लैब, आईक्यूएसी कक्ष, सेट्रल इन्स्टूमेंटंेषन लैब आदि का भ्रमण कराकर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गई। दो पृथक-पृथक समूहों का नेतृत्व आईक्यूएसी संयोजक डाॅ. जगजीत कौर सलूजा तथा रूसा प्रभारी डाॅ. व्ही. एस. गीते ने किया ।
भ्रमण के पश्चात् भूगर्भषास्त्र के सहा. प्राध्यापक डाॅ. प्रषांत श्रीवास्तव ने पावर पाइंट प्रस्तुतिकरण के माध्यम से महाविद्यालय की स्थापना से लेकर वर्तमान तक की उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी। महाविद्यालय की उपलब्धियों एवं प्रस्तुतिकरण तथा महाविद्यालय भ्रमण की प्रषंसा करते हुए शासकीय महाविद्यालय, अभनपुर के प्राचार्य डाॅ. छाबड़ा ने कहा कि सफलता प्राप्ति हेतु मेहनत, लगन व धार आवष्यक है। ये तीनों घटक साइंस कालेज दुर्ग में मौजूद हैं। प्राध्यापकों द्वारा स्थापित स्वयंसेवी संस्था ’’जनउन्न्यन’’ के कार्यो की भी सभी प्राचार्यो ने सराहना की। भ्रमण कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ प्राध्यापक डाॅ. ओ.पी. गुप्ता ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय समस्त प्राध्यापक, रजिस्ट्रार श्री आषुतोष साव, मुख्यलिपिक संजय यादव सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे।
भ्रमण करने वाले शासकीय महाविद्यालयों के प्राचार्यों में डाॅ. के. एल. शर्मा, डाॅ. बी.एस. छाबड़ा, डाॅ. आर.आर. राजपूत, आर.के. पाठक, डाॅ ए.सी. गुप्ता, प््राो.एन.के. उराॅव, डाॅ. के.बी. शर्मा, डाॅ. डी.आर. चैधरी, प्रो.पी. साय, डाॅ. पी. एन. सिंह, प्रो. एन.के. नर्मदा, डाॅ. (श्रीमती) प्रतीक्षा मैराल, डाॅ. चिन्मोयी दास, डाॅ. कोमल सिंह, डाॅ. डी. आर. लहरे, डाॅ. एच.पी. खैरवार, डाॅ. संतोष सिंह, डाॅ. आनंद कुमार विष्वकर्मा, डाॅ. श्रीमती राधा पाण्डेय, डाॅ. (श्रीमती) मंजू त्रिपाठी, ए.के. चतुर्वेदी, डाॅ. आर.के. वर्मा, डाॅ. टी.आर. रात्रे, डाॅ. प्रेमलता गौरे, डाॅ. विजय रक्षित, डाॅ. रष्मि सिंह, डाॅ. शोभा श्रीवास्तव शामिल थे। 

उच्चशिक्षा विभाग द्वारा प्राचार्यों के प्रषिक्षण का चतुर्थ चरण साइंस कालेज दुर्ग का छत्तीसगढ़ के शासकीय महाविद्यालयों के 27 प्राचार्यो ने किया भ्रमण Photos