Photo Gallery

Photo Gallery: गणित विषय की सर्वव्यापकता

 

गणित विषय की सर्वव्यापकता


Venue : Govt. V.Y.T. PG AUTONOMOUS COLLEGE, DURG
Date : 09/04/2019
 

Story Details

गणित विषय की सर्वव्यापकता
विगत दिवस में शास. वि. या. ता. स्ना. स्वषासी महाविद्यालय दुर्ग के गणित विभाग मे परिषद की गतिविधियों के तहत एक व्याख्यान का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य वक्त प्रदेष के महान गणितज्ञ डाॅ. एच. के. पाठक विभागाध्यक्ष अध्ययन शाला गणित, पं. रविवि. रायपुर थे। पाठक सर ने अपने व्यक्तव्य में गणित के रोचक पहलुओं को उजागर किया। ग्राफ थ्योरी के द्वारा डिजाइनिंग, ए.टी.एम. कार्ड या बायोमेट्रिक उपस्थिति यंत्र में अंगूठे के निषान को पहचानने की गणितीय विधि से विद्यार्थियों का परिचित कराया। गणित की उपयोगिता पर प्रकाष डालते हुए डाॅ. पाठक ने बताया कि स्पूतनिक के प्रक्षेपण के बाद रूस को आगेे बढते देखकर अमरीका को चिंता हुई। गहन मंथन के बाद अमेरीका के वैज्ञानिक एवं विषेषज्ञ इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि वस्तुतः रूस के आगे हो जाने का कारण उनका गणित में उन्नत होना है, तत्पष्चात् अमेरिका में गणित को उन्नत किये जाने हेतु एक विषेष अभियान चलाया गया, और इस हेतु अन्य उन्नत देषों से गणित के षिक्षकों की नियुक्ति की गई।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. एम. ए. सिद्दिकी ने डाॅ. एच. के. पाठक सर को अंचल के विभिन्न तरह के गणित के समूहों में उभयनिष्ठ बताया, तथा यह भी कहा कि गणित के नजरिये से समस्त समूहों में सम्मिलित अवयव केवल तत्समक अवयव होता है, तथा वह अद्वितीय होता है, इस तरह गणितीय विवेचना करते हुये उन्होने पाठक सर को अद्वितीय बताया। प्राध्यापक डाॅ. पद्मावती ने गणित के क्षेत्र मंे विष्व प्रसिध्द एबेल पुरूस्कार के लिए नामांकित डाॅ. एच. के. पाठक के शोध कार्याें से विद्यार्थियों को परिचित कराया। डाॅ. पाठक के सरल जीवन और सीमित साधनों में किए गए शोध कार्यों से छात्र - जगत पे्ररणा प्राप्त कर अपनी दिषा तय कर सकती है।
गणित परिषद की सचिव एवं महाविद्यालय छात्रसंघ की अध्यक्ष कु. पूजा घोष ने वर्षभर की गतिविधियों की जानकारी दी। पूजा ने बताया कि डाॅ. राकेष तिवारी के निर्देषन में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी गणित के क्षेत्र में आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा आर एम मो और आई एम मो की तैयारी के लिए दो कार्यषालाएंे आयोजित की गई जिसमें कई राष्ट्रीय स्तर के गणितज्ञों ने अपने व्याख्यान प्रस्तुत किए और विद्यार्थियों की शंकाआंे का समाधान किया। राष्ट्रीय गणित दिवस के उपलक्ष में डाॅ. प्राची सिंह और डाॅ. विनोद साहू के निर्देषन में गणित के लिए कई जिलास्तरीय प्रतियोगिताआंे का आयोजन स्नातक स्तर के विद्यार्थियों के लिए आयोजित किया गया तथा उन्हें नगद पुरूस्कार और प्रमाणपत्रों से सम्मानित भी किया गया।
प्राची उपाध्याय और रीना को सरस्वती वंदना से प्रारंभ हुए इस कार्यक्रम में गतवर्ष एम. एस. सी. की परीक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त कु. खुषबू पटेल को रजत पदक, जैम की परीक्षा में उत्तीर्ण चित्रकुमार, दो बार सेट की परीक्षा पास करने वाले पूर्व छात्र एवं डाॅ. एच. के. पाठक के शोध छात्र मनोज यादव, एम टी टी एस के लिए चयनित सफिया बानो, रूपराग, वेदप्रकाष, प्रकृति देवांगन, चित्ररेखा खैरवार, प्रांजल मिश्रा को भी सम्मानित किया गया। 
कार्यक्रम के अंत में डाॅ. प्राची सिंह ने ज्ञानवध्र्दक, उत्साहवर्दक और सारगर्भित व्याख्यान के लिए डाॅ. पाठक धन्यवाद ज्ञापित किया। इस कार्यक्रम में गणित विभाग की स्नातकोत्तर कक्षाओं के लगभग 60 विद्यार्थी उपस्थित थे।

गणित विषय की सर्वव्यापकता Photos