Photo Gallery

Photo Gallery: विद्यार्थी विज्ञान मंथन की राज्य स्तरीय परीक्षा

 

विद्यार्थी विज्ञान मंथन की राज्य स्तरीय परीक्षा


Venue : Govt. V.Y.T. PG AUTONOMOUS COLLEGE, DURG
Date : 04/02/2020
 

Story Details

शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2019 की राज्य स्तरीय परीक्षा आयोजित की गयी। जिसमें पर्यवेक्षक के रूप में  मुंबई के मीठी बाई महाविद्यालय के प्रोफेसर डाॅ. विष्णु के. वजे उपस्थित थे। वीवीएम की राज्य स्तरीय परीक्षा में कक्षा 6 वीं से 11वीं तक के पूरे प्रदेष के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इस परीक्षा में भौतिकी, गणित, रसायन एवं जीव विज्ञान से संबंधित विषयों की प्रायोगिक परीक्षा हुई, जिसमें छात्रों को विष्लेषणात्मक एवं अनुसंधानात्मक प्रष्न पूछे गये। पूरे प्रदेष से 128 छात्रों का चयन किया गया था। 
ज्ञातव्य है, कि वीवीएम परीक्षा विज्ञान प्रतिभा एवं वैज्ञानिक बनाने के उद्देष्य से छात्रों के लिए की प्रतिवर्ष 3 चरण में पूरे देष में आयोजित की जाती है। प्रथम चरण में स्कूलों में आॅनलाईन परीक्षा आयोजित होती है। द्वितीय चरण में प्रैक्टिकल संबंधी प्रष्न होते है तथा तृतीय चरण में देष के प्रमुख सीएसआईआर लैब में परीक्षायें आयोजित की जाती है। वीवीएम की राज्य स्तरीय परीक्षा शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग में आयोजित की गयी, जिसमें प्रत्येक कक्षाओं से 3 छात्रों का चयन किया गया। ये छात्र देष के विभिन्न विष्वविद्यालयों एवं सीएसआईआर लैब में जाकर देष के वरिष्ठ वैज्ञानिकों से चर्चा करेंगे तथा अंतिम चरण की परीक्षा चंडीगढ़ में भाग लेगें। परीक्षा के आयोजन में महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह स्वयं उपस्थित थे तथा पंडित रविषंकर शुक्ल विष्वविद्यालय से इलेक्ट्रानिक्स विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. संजय तिवारी एवं कामधेनु विष्वविद्यालय के डीन डाॅ. पी.एल. चैधरी उपस्थित रहें। 
कार्यक्रम का समापन में मुख्य अतिथि के रूप में दुर्ग शहर के लोकप्रिय विधायक श्री अरूण वोरा जी उपस्थित थे साथ ही प्रदेष कांग्रेस कमेटी के सचिव सीजू एन्थोनी विषिष्ट अतिथि के रूप में तथा अन्य विषेष अतिथि के रूप में पंडित रविषंकर शुक्ल विष्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. के.एल. वर्मा तथा दुर्ग विष्वविद्यालय के भूतपूर्व कुलपति डाॅ. एन.पी. दीक्षित विषेष रूप से उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा सभी छात्रों को सर्टिफिकेट प्रदान किये गये एवं 20 चयनित छात्रों को विज्ञान प्रसार, एनसीईआरटी एवं विद्यार्थी विज्ञान मंथन द्वारा कुल 60000 रूपये की राषि प्रदान की गयी, जिससे छात्रों का रूझान वैज्ञानिकता की ओर आगे बढ़ सके। 
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्री अरूण वोरा जी ने कहा कि छात्रों को लगातार आगे प्रयास करना चाहिए एवं हमेषा विज्ञान एवं तकनीकी से जुड़कर रहना चाहिए। इस संदर्भ में उन्होंने भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का भी उदाहरण दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्हीं के प्रयासों के कारण आज भारत कम्प्यूटर दक्षता के क्षेत्र मंे सर्वश्रेष्ठ हैं। अतः सभी छात्रों को लगन से परीक्षाओं के लिए मेहनत करना चाहिए, ताकि वो भारत को विज्ञान एवं तकनीकी के क्षेत्र में आगे ले जा सके। कार्यक्रम में सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया तथा सभी छात्रों के साथ वोरा जी ने व्यक्तिगत तौर पर फोटो भी खिंचवायी। साथ ही डाॅ. के.एल. वर्मा ने भी छात्रों एवं पालकें को संबोधित किया एवं कहा कि इस प्रकार के परीक्षाओं से छात्रों का उत्साह बढ़ता है और छात्र लगातार विज्ञान एवं तकनीकी के क्षेत्र में आगे बढ़ते है। पालकों को भी धन्यवाद कहा। 
महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह ने छात्रों एवं पालकों को विज्ञान एवं तकनीकी से जोड़कर कार्य करने का कहा एवं छोटी-छोटी चीजों को ध्यान में रखते हुए अपने तकनीकों को पेटेंट कराने पर जोर दिया, जिससे देष नव निर्माण के क्षेत्र में आगे बढ़ सकें। 
इस राज्य स्तरीय परीक्षा में जिन छात्रों का चयन हुआ उनके नाम इस प्रकार है: - जतिन कुमार, बिलासपुर, ईषान रायपुर, आनंद स्वरूप बिलासपुर, निषीत झा डीपीएस दुर्ग, आदि नारायण रायपुर, सौम्या अग्रवाल, रायपुर प्रथम बागरी, पूर्वांष जैन केपीएस रायपुर, सोमिल मिश्रा केन्द्रीय विद्यालय, रायपुर, रोहित पंडा केन्द्रीय विद्यालय, दुर्ग, बिधान राय, डीपीएस भिलाई, ध्रुव संजय जैन, षिखर गुप्ता  बिलासपुर, कुषाल सिन्हा, प्रत्युष जैन, तनम्या सोनी दल्लीराजहरा आषुतोष भोई केन्द्रीय विद्यालय, रायगढ़, षिवम आनंद केन्द्रीय विद्यालय, बिलासपुर का चयन किया गया। 
कार्यक्रम में महाविद्यालय से संयोजक के रूप में डाॅ. सतीष कुमार सेन उपस्थित थे तथा डाॅ. आषीष भुई, प्रोफेसर दिलीप कुमार साहू एवं डाॅ. अलका मिश्रा का जांचकर्ता के रूप में विषेष सहयोग प्राप्त हुआ। रायपुर से प्रदेष संयोजक के रूप में श्री गौरव वर्मा एवं लखपति पटेल का कार्य सराहनीय रहा। कार्यक्रम में एम.एससी वनस्पति शास्त्र के छात्रों ने वालेंटियर्स के रूप में सराहनीय काम किया। 
कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन श्री संतोष दुबे द्वारा किया गया। 

विद्यार्थी विज्ञान मंथन की राज्य स्तरीय परीक्षा Photos